20 मार्च 2010

इस्लाम धर्म - आलेख - इस्लाम की पाँच बुनियादी बातें

प्रत्येक मुसलमान के लिए इस्लाम में निम्नलिखित पाँच बुनियादी बातें बताई गई हैं तथा उन पर पालन करने के लिए आदेश भी दिए गए हैं। ये बातें हैं-

कलमा पढ़ना-उसे खुदा की बादशाहत और मुहम्मद साहब के पैगम्बर होने की घोषणा करनी चाहिए। इसी घोषणा को 'कलमा' पढ़ना कहते हैं। इसमें कहा जाता है कि 'अल्लाह के अतिरिक्त और कोई खुदा नहीं है और मुहम्मद साहब उसी के पैगम्बर हैं।'

नमाज़ क़ायम रखना- उसे रोज पाँच बार नमाज़ पढ़नी चाहिए और हरेक ज़ुमा के रोज दोपहर के बाद मस्जिद में नमाज़ पढ़नी चाहिए।

जक़ात देना- उसे गरीबों को यह समझकर ज़कात (दान) देना चाहिए कि वह अल्लाह के प्रति कुछ अर्पित कर रहा है। यह एक अच्छा काम है।

माहे रमजान के रोजे रखना- इस्लाम के पवित्र महीने रमजान में उसे रोज़ा(उपवास) रखना चाहिए।

हज करना- उसे अपनी जिंदगी में अपने सामर्थ्य के अनुसार अथवा कम से कम एक बार 'हज' के लिए जाना चाहिए।

वुज़ू का बयान
इंसानियत का पैगाम माह-ए-रमजान
नाहरशाह वली बाबा की दरगाह
नमाज का बयान
मुसाफ़िराने चल पड़े हज!
शैतान को मारेंगे कंकरी
प्रजातंत्र के पैरोकार थे इमाम हुसैन
सुन्नते-इब्राहीमी: हज की इब्तिदा
शबे-बरा'त: रब को राजी करने के जतन

Related Posts with Thumbnails