17 मार्च 2010

करियर विकल्प - पीआरओ संबंध बनाने की कला

कुछ व्यक्ति ऐसे होते हैं जिनसे मिलकर लोग उनकी तारीफ करते नहीं थकते। उनका स्वभाव हर किसी का मन मोह लेता है। अगर आपका नाम भी ऐसे लोगों में शुमार है तो आप अपने इस हुनर के जरिए नए मुकाम हासिल कर सकते हैं।

आपकी वाणी हर किसी के दिल पर छाप छोड़ जाती है तथा लोग जल्दी ही आपके साथ सहज महसूस करने लगते हैं तो आप बतौर पब्लिक रिलेशन ऑफिसर अपना करियर शुरू कर सकते हैं। आप पीआर यानी पब्लिक रिलेशन का कोर्स करके इस क्षेत्र में खुद को साबित कर सकते हैं।

कार्यक्षेत्र:
पीआरओ अपनी कम्युनिकेशन स्किल के जरिए उपलब्ध साधनों का बेहतर इस्तेमाल करते हुए लोगों से बेहतर संबंध बनाने का प्रयत्न करते हैं। ऑर्गेनाइजेशन की लोगों के बीच बेहतर छवि बनाना उनका प्रमुख काम होता है। आजकल हर बड़े ऑर्गेनाइजेशन को पब्लिक रिलेशन ऑफिसर की मांग रहती है। पीआरओ कंपनी की हर छोटी बड़ी गतिविधियों पर नजर रखते हैं तथा कंपनी के बारे में कोई भी अफवाह या गलत बात फैलने से रोकते हैं।

व्यक्तिगत गुण:
एक सफल पीआरओ बनने लिए आपकी अच्छी लेखनी व कम्युनिकेशन स्किल होनी चाहिए। चूंकि पीआरओ विभिन्न प्रकार के व्यक्तियों से मिलता है तथा संबंध स्थापित करता है इसलिए उसे ईमानदार, आत्मविश्वासी व खुले विचारों का होना बहुत जरूरी है। एक अच्छा पीआरओ वही बन सकता है जो ईमानदार होने के साथ धैर्यशील भी हो। अगर उसमें इस गुण का अभाव है तो वह लोगों से बेहतर संबंध स्थापित नहीं कर सकता। इसके साथ ही पीआरओ को किसी भी परिस्थिति में काम करने का जज्बा भी होना चाहिए।

योग्यता:
पीआरओ बनने के लिए आपको पब्लिक रिलेशन का कोर्स करना पड़ेगा। यह कोर्स करने के लिए किसी भी विषय में 50 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातक डिग्री का होना जरूरी है लेकिन प्रवेश का आधार सिर्फ यह अंक नहीं होते। कुछ संस्थानों में प्रवेश परीक्षा और साक्षात्कार के जरिए भी छात्रों का चयन किया जाता है।

कोर्सेज:
पीजी डिप्लोमा इन पब्लिक रिलेशन
एमए इन पब्लिक रिलेशन
सर्टिफिकेट इन पब्लिक रिलेशन

Related Posts with Thumbnails