21 मार्च 2010

Hindi Novel - Elove : ch-36 दुनिया भरोसेपर चलती है

अतूल सायबर कॅफेमें एक कॉम्प्यूटरके सामने बैठा था. उसने चॅटींग सेशन खोला और अंजलीभी चाटींग रुममें है यह देखकर उससे चॅटींग शुरु की -

'' हाय मिस. अंजली''


उधर अतूलने भेजा हुवा मेसेस अंजलीके मॉनिटरपर अवतरीत हुवा. और तभी शरवरी अंजलीके कॅबिनमें आ गई. शरवरीको देखतेही अंजलीने उसे 'उसकाही मेसेज है' ऐसा इशारा किया. इशारा मिलतेही शरवरी तुरंत कॅबिनके बाहर गई. बाहर जाकर शरवरी अंजलीके ऑफीसके बगलमें स्थित एक रुममें चली गई. उस रुममें इन्स्पेक्टर कंवलजीत और, और दो लोग एक कॉम्प्यूटरके सामने बैठे थे. शरवरीने कमरेमें प्रवेश करतेही कहा -

'' सर उसका मेसेज आया है ''

वे तिनों एकदम सतर्क होकर, सिधे बैठकर कॉम्प्यूटरकी तरफ देखने लगे.

'' कम ऑन सुरज ट्रेस द ब्लडी बास्टर्ड '' उन दोनोंको उत्साहीत करनेके उद्देशसे इन्सपेक्टरने कहा.

'' सर ही इज ट्रेस्ड ... द कॉल इज अगेन फ्रॉम मुंबई ... ऍन्ड सी द आय पी ऍड्रेस...''

इन्स्पेक्टरने मॉनिटरकी तरफ देखा और तुरंत मोबाईल लगाया,

'' हॅलो राज... हमने उस ब्लॅकमेलरको ट्रेस किया है ... उसे अभीभी अंजलीने चॅटींगपर बिझी रखा है ... तूम वहां मुंबईमें उसके सही सही ठिकानेका पता लगाओ ... ऍन्ड सी दॅट द फेलो शुड नॉट एस्केप... हां यह लो ब्लॅकमेलरका आय पी ऍड्रेस ....''


अबभी अंजलीको ब्लॅकमेलरका मेसेज ' हाय मिस अंजली ' उसके चॅटींग विंडोमें दिख रहा था. वह अब मनही मन उसे जादासे जादा वक्त तक चॅटींगपर कैसे बिझी रखा जाए ताकी पुलिस उसे ट्रेस कर पकड सकें, इसके बारेमें सोच रही थी. तभी अगला मेसेज आया,

' अंजली प्लीज ऍकनॉलेज युवर प्रेसेन्स '

अब अंजलीके पास कुछतो मेसेजे भेजनेके अलावा कोई चारा नही था, नही तो वह डिस्कनेक्ट होनेका डर था.

' हॅलो.. ' उसने मेसेज टाईप कर भेजा.


इधर इन्स्पेक्टरने फिरसे मुंबईको फोन लगाया.

'' राज ... कुछ पता चला?''

'' यस सर ... द एरीया वुई हॅड जस्ट फाईन्ड आऊट... इट्स ठाणे... बट द एक्सॅक्ट स्पॉट वुई आर ट्राईंग टू लोकेट...'' उधरसे राज बोल रहा था.

'' कमॉन डू समथींग ऍन्ड फाईन्ड आऊट क्वीकली'' इन्स्पेक्टरने कहा.


उधर अंजलीको ब्लॅकमेलरका अगला मेसेज आया -

' मै मेलमें सारी डिटेल्स भेज रहा हूं ... '

अंजलीको लगा की उसे सारी डिटेल्स चॅटींगपरही भेजनेके लिए कहा जाए ... लेकिन नही उसे आशंका होगी ...

लेकिन वह अब डिस्कनेक्ट कर सकता है ... उससे संभाषण जारी रखना आवश्यक था....

अचानक उसे कुछ सुझा और उसने मेसेज टाईप किया,

' लेकिन 50 लाख रुपए देनेके बादभी तुम मुझे ब्लॅकमेल नही करोगे इसकी क्या गॅरंटी ?'


उधर इन्सपेक्टरको चैन नही पड रहा था. उन्होने फिरसे मुंबई राजको फोन लगाया,

'' राज .. कुछ पता चला ?''

'' सर वुई हॅव फाऊंड आऊट द एक्सॅक्ट लोकेशन ऍन्ड दी एक्सॅट स्पॉट...'' उधरसे राजने कहा.

'' गुड व्हेरी गुड... नाऊ क्वीकली इन्स्ट्रक्ट द ठाणे पुलिस टू रेड द स्पॉट ... '' इन्स्पेक्टरने जोशके साथ कहा.

'' यस सर'' उधरसे प्रतिक्रीया आ गई ...


अंजली अब सोच रही थी की वह उसे चटींगपर बातोंमें उलझानेमें कामयाब रही की नही, क्योंकी अबतक उसका कोई रिप्लाय नही आया था.

तभी उसका रिप्लाय आ गया,

' देखो ... यह दुनिया भरोसेपर चलती है ... तुम्हे मुझपर भरोसा करनाही पडेगा ... और तुम्हारे पास उसके अलावा दुसरा कोई चाराभी नही है '

उसके मायूस चेहरेपर खुशीकी एक लहर दौड गई, क्योंकी कमसे कम अबतक वह उसे बातोंमें उलझानेमें कामयाब रही थी.

अब आगे उसे और उलझानेके लिए क्या मेसेज भेजा जाए, वह सोच रही थी और उसने कुछ टाईपभी किया. लेकिन तभी ब्लॅकमेलरका अगला मेसेज आ गया -

' ओके देन बाय... दिस इज अवर लास्ट कन्व्हरसेशन... टेक केअर... तुम्हारा ... और सिर्फ तुम्हारा विवेक...'

वह और कुछ टाईप कर उसे भेजती उससे पहलेही वह चॅटींग रुमसे गायब होगया.

वह इतने जल्दी चॅटींग खत्म करेगा ऐसा उसे अंदेशा नही था. अंजली तुरंत अपने कुर्सीसे उठकर जल्दी जल्दी अपने कॅबिनसे बाहर निकल गई. बाहर आकर सिधे वह बगलके रुममे, जहां इन्स्पेक्टर और दो कॉम्प्यूटर एक्स्पर्टस बैठे थे वहा चली गई. अंजली वहा पहूंचतेही वे अंजलीके डरसे सहमें चेहरेकी तरफ देखने लगे थे.

'' अंकल उसने अभी अभी चॅटींग शेशन क्लोज किया है ... लेकिन मुझे यकिन है की वह अबभी इंटरनेटपर कनेक्टेड होगा और मेल लिख रहा होगा ..'' अंजलीने कहा.

'' डोन्ट वरी... ठाणे पुलिस हॅव ऑलरेडी स्टार्टेड टू रेड द लोकेशन... '' इन्स्पेक्टरने कहा.

Related Posts with Thumbnails