15 जुलाई 2010

क्या हैं वेद? ( What are the Vedas? )

वेद ज्ञान का अनंत भण्डार है। ईश्वरीय ज्ञान है। ये कोई एतिहासिक पुस्तकें नहीं है की कोई घटना घटे और पुस्तकबद्ध हो गई। ईश्वर की अलौकिक वाणी जो ज्ञानरूप में वेदों में निहित है, उसे समझने के लिये वेद ही वे अलौकिक नेत्र हैं जिनकी सहायता से मनुष्य इश्वर के अलौकिक ज्ञान को समझ सकता है। वेद ही वे ज्ञान ग्रन्थ हैं जिनके समकक्ष विश्व का कोई भी ग्रन्थ नहीं है।

हमारे ऋषि-मुनियों ने युगों-युगों तक गहन चिंतन-मनन कर इस ब्रह्माण्ड में उपस्थित कण-कण के गूढ़ रहस्य का सत्यज्ञान वेदों में संग्रहीत किया।

सामान्य भाषा में वेद का अर्थ है - ज्ञान।
वस्तुतः ज्ञान वह प्रकाश है जो मनुष्य-मन के अज्ञानरूपी अन्धकार को नष्ट कर देता है। वेद शब्द संस्कृत के विद शब्द से निर्मित है।

वेदों में न केवल धर्म का उल्लेख मिलता है, बल्कि इनमें राजनीति, आचार-विचार, विज्ञान, ज्योतिश, औषधि, दर्शन आदि का भी विस्तृत उल्लेख मिलता है। वेदों में चारों वणों, उनके कार्यों कर्तव्यों और आचरणों का भी उल्लेख है। साथ ही सामाजिक आचार-विचार, शिष्टाचार, राष्ट्र रक्षा के उपाय, उस पर शासन करने के सिद्धांत उल्लिखित हैं।

वेदों की संख्या चार हैं - ऋग्वेद, यजुर्वेद, सामवेद और अथर्वेद

Related Posts with Thumbnails