30 मई 2010

अच्छा रखें वॉशरूम में बिहेवियर

वॉशरूम यूज करना आपकी पर्सनैलिटी के बारे में काफी कुछ कहता है। कई लोग सोचते हैं कि भला वॉशरूम में भी कोई मैनर्स होते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है। दरअसल, यहां दिखाए गए तौर-तरीके काफी हद तक आपके रहन-सहन को दिखाते हैं:

- लू का इस्तेमाल करने के बाद फ्लश कर दें। अगर आप यह नहीं करेंगे, तो आपके बाद जो व्यक्ति उसका इस्तेमाल करने आएगा उसको लू गंदा मिलेगा। इससे उसका मन तो खराब होगा ही और वह भी यह कहने ने भी नहीं चूकेगा कि सामने वाले को तो मैनर्स नहीं हैं।

- अगर वॉशरूम वेस्टर्न है, तो सीट गीली न करें। अगर हो गई है, तो नैपकिन से पोंछ कर ही बाहर जाएं।

- गर्ल्स सैनिटरी नैपकिन को टॉयलेट में फ्लश ना करें। इसे लपेटकर डस्टबिन में डाल दें, वरना पानी का बहाव रुक जाएगा, जो पूरे वॉशरूम को गंदा कर देगा।

- अगर एग्जॉस्ट फैन न चल रहा हो, तो उसे चला दें। इससे वॉशरूम की स्मेल बाहर चली जाए।

- बाथरूम में बहुत ज्यादा समय न लगाएं।

- वॉशरूम में इधर-उधर न थूकें।

- लू को इस्तेमाल करने के बाद टॉयलेट सीट को ऊपर कर दें।

- टॉयलेट पेपर को कमोड में न डालें। उसके लिए अलग ढके हुए वेस्टबिन (जो क्लीन हो) का इस्तेमाल करें।

- पब्लिक वॉशरूम में जब भी हाथ व मुंह धोएं, तो पानी को इधर-उधर न फैलाएं।

- वॉशरूम दोस्त बनाने की जगह नहीं है, इसलिए इस जगह को बातचीत का अड्डा न बनाएं।

- नल को खोलते समय अपने साफ हाथ का इस्तेमाल करें।

- अगर कोई वॉशरूम में बहुत समय लगा रहा है, तो दरवाजा न खटखटाएं। उसके बाहर निकलने का इंतजार करें।

Related Posts with Thumbnails