01 फ़रवरी 2012

अन्ना के खिलाफ साजिश क्यों ?

अन्ना का गलत ईलाज करके उन्हें और बीमार करने वाले डॉ संचेती को पद्म सम्मान देने के पीछे की साजिश सामने आनी चाहिए.....!!

मित्रों जब डॉ संचेती को केन्द्र सरकार ने पद्म सम्मान देने की घोषणा किया तभी एक घिनौनी साजिश की बू आने लगी जिसे कई अखबारों ने भी छापा है।

सभी जानते है की अन्ना हजारे ने पांच राज्यों मे कांग्रेस के खिलाफ प्रचार करने की घोषणा की थी, जिससे कांग्रेस के पैरों तले जमीन खिसक गयी थी क्योकि यूपी का चुनाव कांग्रेस के युवराज के लिए एक लिटमस टेस्ट बन गया है। यूपी के नतीजे ही राहुल गाँधी का भविष्य तय करने वाले है।

फिर अन्ना हजारे को मामूली जुकाम और कफ, सीने मे जकडन जैसी एक आम समस्या हों गयी। पुणे के डॉ संचेती ने पहले रालेगन आकर अन्ना का चेकअप किया फिर उन्हें अपने नर्सिंग होम मे दाखिल करने की सलाह दिया और अन्ना करीब 15 दिनों तक उनके अस्पताल मे भर्ती रहे।

लेकिन अन्ना की तबियत और ज्यादा बिगड़ने लगी जिससे डॉ नरेश त्रेहन अपनी टीम के साथ अन्ना के गांव मे उनका चेकअप किये और कहा की अन्ना को बहुत गलत और हाई एमजी डोज़ वाली दवाए दी गयी है।

अब अन्ना कल दिल्ली आकर डॉ नरेश त्रेहन की निगरानी मे फिर से अपना ईलाज करवाएँगे।

लेकिन इसी बीच जब पद्म सम्मानों की घोषणा हुयी तो 'डॉ संचेती' का नाम देखकर पूरा मेडिकल जगत नहीं नहीं बल्कि पूरा भारत चौक उठा।

कुछ सवाल उठते है :

1. आखिर डॉ संचेती की अब तक क्या उपलब्धियां रही है जिससे उन्हें पद्म भूषण जैसा सम्मान दिया गया ? उन्होंने अब तक मेडिकल जगत मे कोई भी उल्लेखनीय योगदान नहीं किया है।

2. क्या इस देश मे डॉ संचेती से काबिल डॉ कोई नही है ?

मित्रों, असल में केंद्र सरकार ने डॉ संचेती से मिलकर अन्ना हजारे के खिलाफ एक बड़ी गंदी साजिश रची है।

जय हो अन्ना हज़ारे !! जय हो स्वामी रामदेव !!

Related Posts with Thumbnails