22 अप्रैल 2011

सादगी ही सफलता है

मेरी सफलता का राज क्या है? कोई मुझे यह पूछे तो मैं यही कहूंगा कि सिर्फ सादगी। मैं यही कहूंगा कि आप काम कोई भी करें सादगी के साथ करें। यह सादगी न सिर्फ आपके काम के तरीके में होनी चाहिए अपितु आपके व्यवहार और व्यक्तित्व में भी होनी चाहिए। मैंने इसका साथ कभी नहीं छोड़ा। सादा जीवन उच्च विचार आपके जीवन का मूल मंत्र होना चाहिए। आप जो भी काम करने जा रहे हैं, उसे करने से पहले उस पर कई बार विचार करें। यह भी विचार करें जो काम आप करने जा रहे हैं, उस काम का आपके आसपास के लोगों पर क्या असर पडेगा, आपके समाज व आपके देश पर क्या असर पडेगा? कहीं ऐसा तो नहीं कि आपके काम से आपके माता-पिता को आपके देश को शर्मिन्दा होना पडेगा, इसलिए आपके द्वारा किया गया काम ऐसा हो जिससे आपकी सफलता का आपके समाज और देश अपर सकारात्मक प्रभाव पड़े।

क्स्ट्रा स्ट्रोक : मैं मानता हूँ कि इंसान में ईमानदारी जरूर होनी चाहिए। यह ईमानदारी उसके काम में ही नहीं बल्कि उसकी नजर में भी होनी चाहिए, उसके जमीर में होनी चाहिए। जब तक इंसान का जमीर साफ़ नहीं होगा वह ईमानदार नहीं हो पाएगा। इसलिए आप जिस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं, यह ध्यान रहे कि उस काम को ईमानदारी से करें। आपकी यह ईमानदारी न सिर्फ दिखे बल्कि आप स्वयं इस ईमानदारी को महसूस भी करें। अक्सर लोग सफलता के लिये कई हथकंडे अपनाते हैं। ऐसे लोग दुनिया के नजरों में भले ही कितने सफल कहलाएं पर खुद अपनी सफलता से डरते हैं। सफलता को एंजाय नहीं कर पाते हैं।

सूत्र = सादगी
==========
मुजफ्फर अली, फिल्मकार, फैशन डिजाइनर

Related Posts with Thumbnails