08 जुलाई 2011

अंक ज्योतिष से जाने सफलतादायक दिशा

वास्तविक जीवन में हम देखते रहते हैं कि व्यक्ति एक स्थान से जैसे ही दूसरे स्थान पर जाता है, तो उसका भाग्य चमक उठता है वह पूर्व में उतना ही परिश्रम कर रहा था, परन्तु उसे परिश्रम के अनुरूप परिणाम प्राप्त नहीं हो रहे थे ऐसा क्यों होता है? यह विचार प्राय: सभी के मन-मस्तिष्क में आता है कोई ख़ास दिशा किसी व्यक्ति के लिये लाभदायक है, तो दूसरों के लिये हानिकारक है जैसे ही व्यक्ति सफलतादायक दिशा की ओर जाकर कार्य करता है, उसकी सफलता एवं लाभ में वृद्धि होती जाती है

दिशा का तो इतना महत्व है कि सोने की दिशा भी यदि उपयुक्त नहीं हो, तो नींद भी नहीं आती है, फिर भाग्योदय एवं सफलता बिना उपयुक्त दिशा के कैसे प्राप्त होगी, आप स्वयं ही समझ सकते हैं

सफलतादायक दिशा का निर्धारण मूलांक से किया जा सकता है प्रत्येक व्यक्ति के जन्मदिन की तारीख उसका मूलांक होता है जैसे; किसी व्यक्ति का जन्म 6 फरवरी को हुआ है, तो उसका मूलांक 6 होगा हम सभी 1 से 9 तक के भीतर ही जन्म लेते हैं और इन अंकों का संबंध नवग्रहों से है

मूलांक 1 : आपका जन्म दिनाक 1, 10, 19 अथवा 28 है, तो आपकी सफलता की दिशा दक्षिण-पूर्व होगी स्वास्थ्य की दिशा पूर्व होगी तथा व्यक्तिगत विकास की दिशा उत्तर होगी

मूलांक 2 : 2, 11, 20 तथा 29 जन्म तारीख वाले लोगों की सफलता की दिशा उत्तर-पूर्व, स्वास्थ्य दिशा पश्चिम, पारिवारिक सुख-शांति की दिशा उत्तर-पश्चिम तथा व्यक्तिगत विकास की दिशा दक्षिण-पश्चिम होगी

मूलांक 3 : 3, 12, 21 और 30 जन्म तारीख वाले जातकों की सफलता की दिशा दक्षिण, स्वास्थ्य दिशा उत्तर पारिवारिक सुख-शांति की दिशा दक्षिण-पूर्व होगी

मूलां 4 : 4, 13, 22 तथा 31 जन्म तारीख वाले जातकों की सफलता की दिशा उत्तर, स्वास्थ्य दिशा दक्षिण, पारिवारिक सुख-शांति की दिशा पूर्व तथा व्यक्तिगत विकास की दिशा दक्षिण-पूर्व होगी

मूलांक 5 : 5, 14 और 23 जन्म तारीख वाले जातकों की सफलता की दिशा उत्तर-पूर्व अथवा दक्षिण-पश्चिम, स्वास्थ्य दिशा पश्चिम या उत्तर पश्चिम, पारिवारिक सुख-शांति की दिशा उत्तर-पश्चिम या पश्चिम तथा व्यक्तिगत विकास की दिशा दक्षिण-पश्चिम या उत्तर-पूर्व होगी

मूलांक 6 : 6, 15, 24 जन्म तारीख वाले जातकों की सफलता की दिशा पश्चिम, स्वास्थ्य दिशा उत्तर-पूर्व, पारिवारिक सुख-शांति की दिशा दखिन-पश्चिम तथा व्यक्तिगत विकास की दिशा दक्षिण-पश्चिम अथवा उत्तर-पूर्व होगी

मूलांक 7 : 7, 16, 25 जन्म तारीख वाले जातकों की सफलता की दिशा उत्तर-पश्चिम, स्वास्थ्य, दिशा दक्षिण-पश्चिम, पारिवारिक सुख-शांति की दिशा उत्तर-पूर्व तथा व्यक्तिगत विकास की दिशा पश्चिम होगी

मूलांक 8 : 8, 17, 26 जन्म तारीख वाले जातकों की सफलता की दिशा दक्षिण-पश्चिम, स्वास्थ्य दिशा उत्तर-पश्चिम, पारिवारिक सुख-शांति की दिशा पश्चिम तथा व्यक्तिगत विकास की दिशा उत्तर-पूर्व होगी

मूलांक 9 : 9, 18, 27 जन्म तारीख वाले जातकों की सफलता की दिशा पूर्व, स्वास्थ्य दिशा दक्धीन-पूर्व, पारिवारिक सुख-शांति की दिशा उत्तर तथा व्यक्तिगत विकास की दिशा काशीं होगी

3 टिप्‍पणियां:

  1. आज का सुविचार-- स्वमं में रहो..और भगवन के प्रेमी / स्नेही बनो... तो दुसरों की कद्र / इज्जत कर सकोगे...

    7th Akhil Bhartiy Jyotish Samellan
    5235 Malvia nagar St. 1 Bhatinda 151001
    ---------------------------------------------------------------------------------------
    Respected Sir
    Jai Shree Ram ji

    An urgent meeting of all the members & special invitees of
    7th Akhil Bhartiya -Jyotish Samellan
    will be held
    At shanti Kender - Bhatti Road - Bhatinda
    On 24th July 2011,Sunday 10.00A.m.
    You are respectfully requested to attend this important meeting.

    Agenda

    1. Constitution of new working committee.
    2 Rules and regulations for the 7th samellan
    3. any other topic with the permission of the president.


    with regards

    jyotishi Padam Kumar Mob. 098150-75493

    उत्तर देंहटाएं
  2. Pt. Dayananda Shastri,
    (Editor- Vinayak Vastu Times )
    (R.N.I. No.:- RAJHIN/2008/25671)
    Vinayak vastu Astro Shodha Sansthan,
    Near Old Power House, Kasera Bazar,
    JHALRAPATAN CITY (RAJ.) 326023 INDIA
    Contact No. : 09024390067;; 09413103883;;
    ----------------------------------------
    I am Vedic Astrologer,Vastu Expert and Palmist. According to Pt. Dayananda Shastri::--
    astrology is a way to reduce the adverse effects of planet in our future life with the help of Jap , Tap , Mantra , Donations , Wearing Gemstones and other such charitable measures . Remedies performed with the deep devotion and faith will certainly help to reduce the adverse effects of a planet and will attract piousness and prosperity in life . Planetes According to us are the representatives of god and are created to purify the jeevatama (human being )by way of giving suffering/enjoyment according to their previous deeds . To reduce the bad effects of planets in our life we must consult a learned astrologer who has the knowledge to remedies to satisfy a particular planet. One can perform the remedies as advised by a vedic astrologer to avoid any problem in future .-------

    कैसा होगा आपका जीवन साथी? घर कब तक बनेगा? नौकरी कब लगेगी? संतान प्राप्ति कब तक?, प्रेम विवाह होगा या नहीं?वास्तु परिक्षण , वास्तु एवं ज्योतिषीय सामग्री जैसे रत्न, यन्त्र के साथ साथ हस्तरेखा परामर्श सेवाएं भी उपलब्ध हें.
    ज्योतिष समबन्धी समस्या, वार्ता, समाधान या परामर्श के लिये मिले अथवा संपर्क करें :-
    प. दयानंद शास्त्री,
    मोब.-07838730179(DELHI),
    -09024390067(RAJ.),
    -09413103883(RAJ.
    ===============================================

    E-Maii:- vastushastri08@gmail.com;vastushastri08hotmail.com;
    -dayanandashastri@yahoo.com; vastushastri08@rediffmail.com;
    ============================================
    Blogs-- 1.- http://vinayakvaastutimes.mywebdunia.com//;;;;
    --- 2.- https://vinayakvaastutimes.wordpress.com///;;;
    --- 3.- http://vinayakvaastutimes.apnimaati.com//;;;;
    ---4.- http://www.mediaclubofindia.com/profile/PtDAYANANDASHASTRI ;;;;;///
    ---5.--http://vinayakvaastutimes.apnimaati.com/..;;
    ---6.--http://jyoteeshpragya.blogspot.com/...;;;
    ---7.---http://vinayak.merabhavishya.in/..;;;
    ---8.---http://www.vinayakvastutimes.webs.com/...;;;;

    उत्तर देंहटाएं
  3. प्रिय महोदय, नमस्कार,
    हमने आपका ब्लॉग देखा और पढ़ा... बहुत अच्छा लगा ..आपके अनुभव और विचार सराहनीय हे...हमारी भी दिली इच्छा हे की यदि आप आज्ञा दे तो कुछ आपके ब्लॉग की सामग्री हमारे ब्लॉग / समाचार पात्र-"विनायक वास्तु टाईम्स"पर डाल दे ताकि और अधिक पाठक / जनता लाभान्वित हो पायें...यदि आप उचित समझे तो हमारे ब्लॉग और वेब साईट का अवलोकन करिए और पूर्ण संतुष्टि के बाद ही हमारी निवेदन पर गोर फरमाईयेगा...साथ ही साथ हमें यह जानकारी भी दे की यह केसे संभव हो पायेगा....धन्यवाद...प्रतीक्षारत..आपका अपना--पंडित दयानंद शास्त्री---(झालरापाटन)--09024390067

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts with Thumbnails