17 दिसंबर 2009

अंक ज्योतिष


















अंक और भारत

क्या आपको पता है :


  • "सिफर" या शून्य शब्द, अरबी भाषा से है, जिसका अर्थ है खाली या कुछ नही।
  • -498 ईसा पूर्व भारतीय ज्योतिषी आर्यभट्ट का कथन था, "स्थानम स्थानम दस गुणम" अर्थात, यदि अंकों को 10 से गुणा किया जाए, तो वे 10 गुने अधिक हो जाते हैं। इसे ही दशमलव पर आधारित आधुनिक अंक प्रणाली की उत्पत्ति कही जा सकती है
  • अंक प्रणाली और ज्योतिष में इसके उपयोग का उल्लेख अथर्व वेद में भी मिलता है

















अंक ज्योतिष है क्या?

अंकों पर आधारित ज्योतिष या अंक ज्योतिष, अंकों के गुप्त रूझान और प्रवृत्ति के साथ ही ब्रम्हांडीय आकार योजना का अध्ययन स्वरूप है. ब्रम्हांडीय कंपन का संबंध प्रत्येक अक्षर के साथ होता है और वही उस संख्या की उपयोगिता कहलाती है. हमारा नाम भी एक अनूठा कंपन लिये हुए होता है और यही कारण है कि नाम का प्रभाव व्यक्तित्व पर पडता है. ये भी संभव है कि इस कंपन को कुछ हद तक कम किया जा सके. ये सभी कंपन अलग अलग लय में होते हैं. अंक ज्योतिष के अंकों के अनुसार हम सभी का संबंध भी एक दूसरे से कुछ इसी तरीके से है















आप और आपका मूलांक

आपकी जन्म तारीक के जोड क़ो ही आपका मूलांक या लाइफ पाथ नम्बर कहा जाता है. इसी अंक से ये तय होता है कि अपने जन्म समय पर आपकी क्या स्थिती थी और आप अपने पूर्वजों की किस विरासत को लेकर येप जन्म व्यतीत करेंगे. जिस अंक की उत्पत्ति आपके नाम से होती है, वो आपका भाग्यांक होता है. इसके साथ ही आपको पुकारा जाने वाला नाम भी महत्वपूर्ण है, यदि ये नाम और आपका मूलांक मेल खा सके, तो सबसे सुखद संयोग माना जाता है और आपके आस पास आनंद व खुशी का वलय सा बन जाता है


















आपका जन्मदिवस और अंकज्योतिष

आपके मूलांक के साथ ही माह में व वर्ष में आने वाले आपके जन्मदिवस का संबंध व अर्थ काफी गहरा होता है. यदि सही तरीके से व्याख्या की जाए, तो आप इसके द्वारा नवीन अवसर पा सकते हैं.


















अंकों द्वारा अन्य सभी से संबंध

ये स्वाभाविक है कि जिस तरीके से अंक ज्योतिष आपको स्वयं के विषय में जानकारी देता है, उसी तरीके से ये यह बता पाने में भी सक्षम होता है कि आपके संबंध अन्य लोगों के साथ कैसे होंगे. समूह के कुछ लोग आपको पसंद हैं और कुछ बिल्कुल भी नही, ऐसा क्यों है ये आसानी से समझ में आ सकता है














आपका जीवन और उसके चरण

अनेकानेक प्रयत्नों के बावजूद आज तक मनुष्य को ये समझ नही आया है कि उसके जीवन में आने वाले सुख व दुख का क्या नियम व तरीका है। अनेक प्रकार की गणनाओं के बावजूद सफलता और असफलता का कोई सूत्र सामने नही आ पाता है. अंक ज्योतिष के पिनैकल्स या शिखर के संबंध में जानकारी लेकर हम कुछ हद तक ये सूत्र जानने में सफल हो सकते है. इन पिनैकल्स की विशेषता होती है कि ये हमें नई दिशा या आशावादी सोच उत्पन्न कर सकते हैं















आपका व शिशुओं का नामकरण

जब आप अंक ज्योतिष को जानने लगते हैं, तब अपने शिशु के सही जीवन पथ को प्रशस्त करने के लिये उसके अनुरूप कंपन के नाम को चुनने की क्षमता होती है. यही वो तरीका है जिसके द्वारा आप अपने नाम के उच्चारण या मूलांक को बदले बिना सही नाम के अवसर पा सकते है



















कम्प्यूटर पर आधारित अंक ज्योतिष

अंक ज्योतिष और कम्प्यूटर दोनों ही अंकों पर आधारित होते हैं. कम्प्यूटर और अंक ज्योतिष (दशमलव) में उपयोग की जानेवाली अंक प्रणाली में समन्वय स्थापित कर आप अपने लिए अचूक परिणाम पा सकते हैं। इस प्रकार, आपको अंकों पर आधारित परिणाम और अंकों पर आधारित समाधान मिल सकते हैं।

Related Posts with Thumbnails